Baar – Baar Peshab Ki Samsaya Ka Karan Aur Nivaran | बार – बार पेशाब की समस्या का कारण और उपाय

0
571
बार बार पेशाब आना कौन सी बीमारी का लक्षण है?,अगर बार बार पेशाब आए तो क्या करना चाहिए?,बार-बार पेशाब आने से छुटकारा पाने के लिए करें ये घरेलू उपाय, 1 दिन में कितनी बार पेशाब करना चाहिए?,पानी पीने के कितनी देर बाद पेशाब आना चाहिए?,पेशाब करने के बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए , बार-बार पेशाब आने का कारण, लक्षण और घरेलू उपचार - 1MG, बार-बार पेशाब आने का कारण, लक्षण और घरेलू उपचार - patanjali,बार-बार पेशाब आने की दवा,बार-बार पेशाब आने की अंग्रेजी दवा,बार-बार पेशाब आने की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि,बार-बार पेशाब आने की होम्योपैथिक दवा,पानी पीने के बाद बार-बार पेशाब आना,बार-बार पेशाब आना और जलन होना घरेलू उपाय,बार-बार पेशाब आने के घरेलू उपाय, बार-बार पेशाब आने के 5 कारण, बार बार पेशाब आना इसके 6 कारण, बार-बार पेशाब आने से छुटकारा पाने के लिए करें ये घरेलू उपाय , बार बार पेशाब आने के क्या कारण है?,baar baar peshab aane ke Karan, baar baar peshab aane ke kya Karan hai, baar baar peshab kyo aati hai, baar baar peshab aane ke gharelu nuskhe, baar baar peshab aane ke gharelu upaye, sehat, baar baar pesab se chhutkara pane ka ilaaj, peshab se chhutkara pane ka gharelu upchar, kya karen peshab se chhutkara pane ke liye, gharelu upaye, gharelu nuskhe, gharelu upchar, peshab se chhutkara dilane wale gharelu upchar, bar bar peshab se chhutkara dilane wale gharelu upchar, peshab se chhutkara dilane wale gharelu nuskhe, baar baar peshab se chhutkara dilane wale gharelu upaye,बार-बार पेशाब आना कौन सी बीमारी है,गर्मी में बार-बार पेशाब आना,बार-बार पेशाब आना और दर्द होना,रात में बार-बार पेशाब आना,बच्चों को बार-बार पेशाब आने की दवा,बच्चों को बार-बार पेशाब आने के कारण,शुगर में बार-बार पेशाब आना, बार बार पेशाब आने के लक्षण कारण और उपचार, बार बार पेशाब आने का इलाज, How To Cure Frequent Urination, Frequent Urination in Hindi, बार-बार पेशाब क्यों आता है? जानें इसके कारण लक्षण और उपाय, जानिए बार-बार पेशाब आने का कारण व निवारण Frequent Urination - मेरी सहेली, सर्दियों में बार-बार पेशाब आने की समस्या से निपटने के 5 असरदार, बार बार पेशाब आने के नुकसान, Baar-Baar Peshab Aane Ke Nuksan, लगातार पेशाब आना के लक्षण कारण इलाज दवा उपचार और परहेज, - बार-बार पेशाब आने के लक्षण क्या हैं?, Symptoms of Frequent Urination in Hindi , बार बार पेशाब आना क्या है? कारण और लक्षण, महिलाओं में बार बार पेशाब आने के कारण लक्षण और उपाय, महिलाओं में बार बार पेशाब आने के कारण लक्षण और उपचार, महिलाओं में बार बार पेशाब आने के कारण है , स्त्रियों में बार बार पेशाब की परेशानी क्यों होती है, पुरुषों में पेशाब आने की समस्या क्यों होती है, पुरुषों में बार बार पेशाब आने के लक्षण कारण और उपचार , man matters, बार बार पेशाब आने का इलाज के 10 आसान उपाय और नुस्खे, बार-बार पेशाब आना - विकिपीडिया, Baar baar peshab aana - wikipedia, महिलाओं को बार बार पेशाब आने के कारण लक्षण जांच इलाज और उपाय , महिला को बार बार पेशाब आने का कारण, महिला को बार बार पेशाब आने का कारण और निवारण, Peshab Ki Samsaya Ka Karan Aur Nivaran , बार - बार पेशाब की समस्या का कारण और उपाय,mootra samsya, mootra samsya ka Karan aur nivaran,Baar - Baar Peshab Ki Samsaya Ka Karan Aur Nivaran,Wikiluv, विकिलव, www.wikiluv.com, Wikiluv.com,Apple Beneficial in Frequent Urination in Hindi, Ginger Beneficial in Frequent Urination in Hindi,Bengal Gram Beneficial in Frequent Urination in Hindi,

Baar – baar Peshab ki samsaya ka Karan aur nivaran में आज हम आप सभी को बार – बार पेशाब आने की समस्या के विषय में बताएंगे क्योंकि आजकल ज्यादातर लोगों की यह समस्या बन गई कि उन्हें बार – बार पेशाब के लिए जाना होता है। अगर आपको भी यह समस्या है तो, बार – बार पेशाब की समस्या का कारण और उपाय आपको इस लेख में मिलेगा जिससे आप जान पाएंगे की आपको यह समस्या क्यों हो रही है। तो आइए जानते हैं इस समस्या के निवारण के बारे में परंतु उसके पहले जानते है इसके कारण के बारे में –

बार – बार पेशाब आने का कारण ( baar – baar peshab aane ka Karan)

Topics in This Article

प्रेगनेंसी के कारण

प्रेगनेंसी के दौरान यूरेटस बड़ा होने लगता है जिसकी वजह से ब्लैडर पर दबाव बढ़ने लगता है। इसलिए इस दौरान महिला को बार-बार पेशाब आना शुरु हो जाता है।

मूत्राशय में अत्यधिक सक्रियता के कारण

बार-बार पेशाब आने का सबसे बड़ा कारण हो सकता है कि आपका मूत्राशय की अत्यधिक सक्रियता। ऐसी स्थिति में सामान्य रूप से व्यक्ति बार बार पेशाब करने के लिए प्रेरित होता है।

मधुमेह (डायविटीज) रोग होने के कारण

मधुमेह भी बार-बार पेशाब आने का एक प्रमुख कारण है। रक्त व शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ने पर यह समस्या बढ़ जाती है।

यूरीनल ट्रैक्ट इंफेक्शन होने के कारण

अगर आपको यूरीनल ट्रैक्ट इंफेक्शन है, तो आपको इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इस स्थिति में बार-बार पेशाब आने के साथ ही पेशाब में जलन भी होती है।

प्रोटेस्ट ग्रंथि के बढ़ने के कारण

प्रोटेस्ट ग्रंथि के बढ़ने पर भी बार – बार पेशाब आने की समस्या पैदा हो सकती है। क्योंकि यह मूत्रमार्ग पर दबाव डालता है जो कि अधिक पेशाब आने का कारण बनता है। हालांकि इस रोग का पता लगाना थोड़ा कठिन है लेकिन इस बीमारी से जुड़े कारणों में बाथरूम जाने के बाद भी हल्का महसूस ना होना, पेशाब पर असंयम एवं पेशाब करने में कठिनाई महसूस होना जैसे लक्षण शामिल होते हैं।

किडनी में पथरी होने के कारण

किडनी में पथरी होने पर भी बार-बार पेशाब आना बेहद आम बात है, इसलिए अगर आपको यह परेशानी है, तो इसकी जांच जरूर कराएं।

मानसिक तनाव के कारण

अधिक पेशाब आने के पीछे केवल शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक कारण भी छुपे हो सकते हैं। डर या चिंता के कारण आपको अधिक बार पेशाब आ सकता है। कुछ मामलों में आदत एवं शौचाल्य जाने से जुड़ा समय भी आपको बाथरूम की ओर खींच सकते हैं।

हाई ब्लड प्रेशर के कारण

हाई ब्लड प्रेशर के दौरान जो दवाएं दी जाती हैं, वो किडनी पर अतिरिक्त लिक्किड को बाहर निकालने का दबाव बनाती हैं। इसी वजह से इस तरह की दवाओं के इस्तेमाल से भी व्यक्ति को बार-बार पेशाब होने लगता है।

अत्यधिक सेक्स करने कारण

यह समस्या ज्यादातर महिलाओं में होती है की शादी के बाद बार – बार पेशाब आने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। ऐसा अत्यधिक सेक्स करने के कारण होता है। यदि आप अत्यधिक सेक्स करते है तो आपकी योनि फैल जाती है और आप पेशाब को रोकने में असमर्थ होने लगते है और आपको बार बार पेशाब जानें की समस्या हो जाती है।

सर्दी के मौसम के या ठंडे वातावरण के कारण

सर्दियों के मौसम के कारण या आपको ठंडे वातावरण जैसे AC में ज्यादा रहना पसंद है तो इससे भी पेशाब ज्यादा बनता है और पेशाब बार-बार होता है।

पेट में कीड़े होने के कारण

यदि किसी के पेट में कीड़े है तो भी इस समस्या का होना स्वभाविक है।

 अस्थमा (दमा) के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार

बार बार पेशाब आने की समस्या का निवारण (peshab aane ki samsaya ka gharelu upaye)

भरपूर मात्रा में पानी पीना

भरपूर मात्रा में पानी पिएं ताकि किसी प्रकार का इंफेक्शन हो, तो वह पेशाब के माध्यम से निकल जाए और बाद में आपको इस तरह की परेशान न झेलनी पड़े।

तिल और गुड़ है फायदेमंद

यदि आप इस बीमारी से निजात चाहते है तो आपको तिल और गुड़ के 1 लड्डू का सेवन रोजाना करना चाहिए, क्योंकि यह आपके शरीर में यूरिन यानि की कम पेशाब बनने में मदद करता है। और आपको बार – बार पेशाब जाने से भी निजात मिल जाएगी।

बार बार पेशाब आने का घरेलू उपाय है दही

दही में प्रोबायोटिक होते हैं जो मूत्र मार्ग में संक्रमण यानी यूटीआई की वजह से बार-बार पेशाब आने की समस्‍या को दूर करने में मदद करते हैं। दिन में एक बार एक छोटी कटोरी खाने से आपको इस दिक्‍कत से निजात पाने में मदद मिलेगी।

पेशाब से निजात दिलाने के लिए सूखा आंवला है लाभकारी

सूखे आंवले को पीसकर इसका चूर्ण बना लें और इसमें गुड़ मिलाकर खाएं। इससे बार-बार पेशाब आने की समस्या में लाभ होगा। विटामिन सी से भरपूर चीजों का सेवन करें।

अनार के छिलके है बेहद फायदेमंद बार बार के पेशाब से छुटकारा दिलाने में

अनार के छिलकों को सुखा लें और इसे पीसकर चूर्ण बना लें। अब सुबह-शाम इस चूर्ण का सेवन पानी के साथ करें। अगर चाहें तो इसका पेस्ट भी बना सकते हैं।

बार बार की पेशाब जाने की समस्या को रोकता है बेकिंग सोड़ा

ये एलकेलाइन होता है जो बार-बार पेशाब आने के लक्षणों को कम करता है और जिन स्थितियों के कारण ये समस्‍या होती है, उन्‍हें भी ठीक करता है। एक गिलास पानी में आधा चम्‍मच बेकिंग सोडा डालकर पी लें। दिन में एक बार इस पानी को पीने से फायदा होगा।

तुलसी दिलाता हैं निजात बार बार पेशाब आने की समस्या से

तुलसी एंटीऑक्‍सीडेंट की तरह काम करती है और शरीर से विषाक्‍त पदार्थों को भी बाहर निकालती है। इसके एंटीमाइक्रोबियल गुण यूटीआई के इलाज में मददगार होते हैं। आपको बता दें कि यूटीआई बार-बार पेशाब आने का प्रमुख कारण होता है। 5 से 7 तुलसी की पत्तियां लें और उन्‍हें पीसकर रस निकाल लें। अब इस रस में दो चम्‍मच शहद मिलाकर पी लें। रोज सुबह खाली पेट ये उपाय करने से लाभ होगा।

बार-बार पेशाब आने की समस्या से दिलाये निजात सेब

कुछ लोग रात को बार-बार उठकर पेशाब करने के लिए जाते हैं ऐसे लोगों के लिए सेब का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है यदि आपको यह समस्या बहुत ज्यादा हो रही है तो रोजाना रात को सोने से पहले दो से तीन सेब का सेवन जरूर करें, ऐसा करके बार-बार पेशाब आने की समस्या से आपको छुटकारा मिल जाएगा।

बार-बार पेशाब आने की समस्या से दिलाये निजात अदरक

दो चम्मच अदरक का रस सुबह शाम सेवन करे जिससे रूका हुआ पेशाब जल्दी बाहर निकल जाता हैं और बार बार पेशाब आने की समस्या भी दूर होती हैं। अदरक के रस के सेवन से पेशाब के मार्ग में मौजूद इन्फेक्शन भी दूर होता हैं।

बार-बार पेशाब आने की समस्या से दिलाये निजात भुना चना

भुना चना हमें रोजाना बिना समस्या के भी खाना चाहिए, यह भी इस समस्या से आराम पहुंचाने में मददगार होता है आप भुजा चना गुड़ के साथ खाए आपको कुछ दिनों के बाद आराम दिखेगा।

बार बार पेशाब की समस्या के लिए इनका भी जरुर करें सेवन

अंडा, मछली, गुनगुना दूध, अलसी, मैथी का साग, मसूर की दाल, अंकुरित अनाज, गाजर का जूस एवं अंगूर, नारियल पानी का सेवन भी इस समस्या के लिए एक कारगर उपाय है।

बार बार पेशाब आने की समस्या के लिए बिल्कुल भी ना करें इन खाद्य पदार्थों का सेवन

यदि आप वाकई में बार बार पेशाब आने की समस्या से पीड़ित है तो भूलकर भी इन खाद्य पदार्थों का सेवन बिल्कुल भी ना करें – चाय, कॉफी, चावल, संतरा, नीबू, कच्चा प्याज, मिठाई, गन्ना जूस, चॉकलेट, चीनी, खट्टे फल, ठंडा पानी, शराब, इत्यादि।

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए ? (When to See a Doctor?)

घरेलू उपाय करने के बाद भी जब पेशाब का बार बार आने की समस्या से निजात न मिले।

जब पेशाब होने में परेशानी हो और यह सब संकेत हो तो डॉक्टर से मिलने में देर नहीं करनी चाहिए

जब बिना किसी कारण के पेशाब बार-बार आए।

जब पेशाब में जलन हो या उसके साथ रक्त भी निकले।

जब पेशाब का रंग लाल या गहरा भूरा रंग का हो।

जब पेशाब को रोकने में परेशानी हो।

जब पेशाब रुक-रुक कर आए।

जब पेशाब करने में तकलीफ या दर्द हों।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.