What is Self Confidence,How to Increase Self Confidence in Hindi | आत्मविश्वास क्या है, आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये

0
161
आत्मविश्वास, aatmvishwas, What is self confidence ?, how to increase self confidence, ways to increase self confidence, What is self confidence , how to increase self confidence in hindi, आत्म विश्वास क्या है?, आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं , आत्म विश्वास बढ़ाने के उपाय, How to build confidence in hindi, अपने आत्मविश्वास शक्ति को कैसे बढ़ाए,आत्मविश्वास क्या होता है,How to increase your confidence power, what is confidence, aatmvishwas kya hota hain, self-confidence, आत्मविश्वास बढ़ाने के उपाय, Aatm Vishwas Kaise Badhaye, आत्मविश्वास की कमी के लक्षण, Aatmvishwas Amit Bhadana, आत्मविश्वास किसे कहते हैं,Aatmvishwas in English, आत्मविश्वास का अर्थ एवं परिभाषा, Meaning and Definition of Self-Confidence in hindi आत्मविश्वास का अर्थ, आत्मविश्वास की परिभाषा , आत्मविश्वास क्या है, What is confidence, definition of confidence, what is confidence in Hindi, आत्मविश्वास बढ़ाने के ज्योतिषीय उपाय, How to Build Self Confidence, Aatmvishwas Kaise Badhaye, Aatmvishwas Kaise Prapt Karien, How to Build Self Confidence in Hindi, आत्मविश्वास कैसे बनाएं, Aatmvishwas Kaise Banaye, How to build confidence in hindi, aatmvishwas kaise badhaye in hindi, विकिलव, wikiluv, wikiluv.com, www.wikiluv.com,What to do in a distracted mind,विचलित मन मे क्या करें,

आज हम आपको आत्मविश्वास क्या हैं (What is self confidence), आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये (How to build self – confidence in hindi) और आत्मविश्वास को बढ़ाने के उपाय (ways to increase self confidenc) बताएंगे लेकिन पहले यह जाने कि-

आत्मविश्वास क्या है?(What is self confidence in Hindi)

आत्मविश्वास अर्थात खुद पर विश्वास करना और english में इसे self confidence कहते हैं। आत्मविश्वास वह ऊर्जा व ताकत हैं, जो जीवन में सभी बाधाओं और परेशानियों की परिस्थितियों से लड़कर जीतने का साहस प्रदान करती है। आत्मविश्वास से मनुष्य को उन हर कामों में सफलता प्राप्त होती हैं जिसमें मनुष्य को कठनाई लगती है, फिर चाहे वह जीवन जीने में हो या अपने लक्ष्य तक पहुंचने में हो।

जब मन विचलित होता है तो आत्मविश्वास (self- confidence) में कमी आ जाती हैं। या आत्मविश्वास को हम नजर अंदाज कर देते है और कुछ ऐसे कदम उठा देते है जिससे हम या खुद की नजरों में शर्मिंदा हो जाते हैं, या तो आत्महत्या तक की नौवत पर पहुंच जाते हैं और न सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं और नही अपने परिवार के बारे में सोचते हैं। इसका मतलब यह है कि आत्मविश्वास की कमी से हम सोचने और समझने की शक्ति भी गवां देते हैं। इसलिए हम चाहते कि आप अपनी परिस्थितियों से हारने के बाद ऐसा कुछ करने या सोचने से पहले अपने आत्मविश्वास को बढ़ाने की सोचेंगे तो आप ज़िंदगी की हर जंग को हँसते – हँसते जीत लेंगें और यदि हार भी गए तो आपको कोई फर्क न पड़कर आगे बढ़ने का रास्ता खोज निकालेंगे, और ऐसे में आपको यह ख्याल तो जरूर आता ही होगा कि आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये (How to build self – confidence in hindi)तो चलिए जानते हैं आत्मविश्वास को बढ़ाने के उपाय –

आत्मविश्वास को बढ़ाने के उपाय (Ways to increase self confidence in Hindi)

छोटे- छोटे लक्ष्य निर्धारित करें

शुरुआत में कुछ छोटे- छोटे लक्ष्य निर्धारित करें और उन्हें पूरी शक्ति के साथ पूरा करने की कोशिश करें। इससे आपके आत्मविश्वास में वृद्धि होगी और आपमें कुछ बड़ा करने की इच्छा जागृत हो जाएगी।

एक समय में एक काम करेें

वैसे तो महिलाओं को मल्टीटास्कर कहते हैं, लेकिन किसी भी कार्य को सही ढंग से करने के लिए एक समय मे एक ही काम करें। काम की आवश्यकता और प्रकृति के अनुसार कार्ययोजना बनाये, फिर उसे सम्पादित करें। इससे काम की गुणवत्ता बढ़ जाएगी और आपका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा।

अपने पहनावे पर दे ध्यान

कपड़े तो सभी पहनते हैं, लेकिन यदि वे आप पर अच्छे भी लगें तो क्या कहना? इसके लिए आपको अवसर या आवश्यकता के अनुसार सुंदर और सौम्य या आकर्षक कपड़ों का चयन करना चाहिए क्योंकि यह आपके व्यक्तित्व (personality) को दुगुना कर देते हैं। साथ ही आपमें से काफी लोग तो ऐसे हैं जो कपड़े तो सुंदर और आकर्षक पहन लेते हैं मगर अपने जूते या चप्पल पर ध्यान नहीं देते। ऐसे में आपको कपड़ों के साथ-साथ ऐसे जूते या चप्पल पहनने चाहिए जो आपके कपड़ो को और भी आकर्षक कर देते हैं। जिससे लोग आपके ड्रेस सेन्स के साथ आपके जूतों की भी तारीफ करेंगे। और जूते आपकी personality को दुगुना ही नही , बल्कि आत्मविश्वास को और भी मजबूत बनाते हैं। इसलिए आपको अपने पहनावे पर जरूर ध्यान देना चाहिए।

आंख मिलाकर बात करना सीखे

जब आप किसी से बात करते हैं तो आप उससे आंख नही मिला पाते हैं या इधर उधर देखने लगते हैं तो सामने वाले को लगता हैं कि आपको उसकी बातों में रुचि नही है या आपको उसके बताए हुए कार्य मे intrest नही हैं उसके द्वारा पूछें गए प्रश्नों को आपको पता होते हुये भी नजरें मिलाकर नहीं बता पा रहे तो इसमें आपके आत्मविश्वास में कमी हैं। इसलिए आपको आंख मिलाकर अभ्यास करें। इससे आपके व्यक्तित्व में निखार आएगा और लोगों से आपके रिश्ते मजबूत होने लगेंगे साथ ही आपका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा।

उपलब्धियों का स्मरण जरूर करें

जब आपका आत्मविश्वास डगमगाने लगे तो अतीत की उपलब्धियों को जरूर याद करें, लेकिन उसकी तुलना वर्तमान यानी आज से न करें और स्वयं को नई उपलब्धियां हासिल करने के लिए तैयार करें। पिछले दिनों में मिली सफलता की यादें आपको पुनः सफल होने के लिए प्रेरित करेंगी।

कुछ देर खुद से बात जरूर करें

दिनभर के व्यस्त समय में से कुछ समय खुद से बात जरूर करें। विश्वास रखें कि आप स्वयं में विशेष हैं। आप जैसा कोई दूसरा नहीं, किसी से भी अपनी तुलना न करें। किसी की समृद्दि, संपत्ति, रहन-सहन आदि से अपने जीवन की तुलना न करें। क्या खोया, इसमें उलझे रहने की अपेक्षा अपने पास उपलब्ध संसाधनों का सर्वोत्तम उपयोग कैसे करें इस पर फोकस करें। इससे आप जीवन को बेहतरीन बना सकेंगे।

विचलित मन मे क्या करें (What to do in a distracted mind in hindi)

जब मन विचलित होता है, तो आत्मविश्वास में कमी आ जाती हैं। मन को शांत करने के लिए नियमित रुप से योगाभ्यास, प्राणायाम और ध्यान करना चाहिए। शांत मन से एकाग्रचित्त होकर पहले छोटे-छोटे संकल्प लें, उन्हें पूरा करें। इससे आत्मविश्वास मजबूत होता जाएगा। इसका नियमित अभ्यास आपको अधिक बेहतर और बड़ा करने के लिए प्रेरित करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here