Vastu Shastra Bathroom and Toilet in Hindi : वास्तु शास्त्र के अनुसार स्नानगार और शौचालय

0
277
Vastu Shastra Bathroom and Toilet  in Hindi, स्नानघर और शौचालय वास्तु, वास्तु अनुसार स्नानगार, बॉथरूम और टायलेट के वास्तु दोष से बचने के उपाय, बाथरूम और टॉयलेट का वास्तु दोष दूर करने का उपाय,स्नानघर और शौचालय वास्तु, स्नानघर एवं शौचालय संबंधी वास्तु सिद्धांत, वास्तु के हिसाब से लैट्रिन बाथरूम किधर होना चाहिए?, बाथरूम वास्तु, बाथरूम और टॉयलेट्स को डिजाइन कराने के नियम, बाथरूम और टॉयलेट्स को डिजाइन कराने के लिए वास्तु टिप्स और गाइडलाइंस, वास्तु के मुताबिक घर में शौचालय किस दिशा में होना चाहिए,उत्तर दिशा में स्थित टॉयलेट के लिए वास्तु उपाय,उत्तर मुखी घर वास्तु योजना,दक्षिण दिशा में शौचालय के वास्तु दोष उपाय,साउथ-वेस्ट दिशा के टॉयलेट्स के लिए वास्तु उपाय,वास्तु के हिसाब से बाथरूम किधर होना चाहिए?,वास्तु के अनुसार शौचालय कहाँ नहीं होना चाहिए?,अगर उत्तर दिशा में टॉयलेट हो तो क्या करें?,शौचालय किस दिशा में होना चाहिए?, सीढ़ी के नीचे क्या बनाना चाहिए, Toilet direction 7 tips, क्या सीढ़ी के नीचे शौचालय बनाना चाहिए?,बाथरूम का वास्तु दोष कैसे दूर करें?, Vastu Tips For Bath Room,घर में टॉयलेट कहाँ होना चाहिए? बाथरूम का वास्तु उपाय, घर का वास्तु कैसे ठीक करें?, vastu dosh nivaran upay, समस्त वास्तु दोष कैसे दूर करें, वास्तु के अनुसार शौचालय की दिशा कोनसी है?, शौचालय और स्नानघर के लिए वास्तु, वास्तु के अनुसार शौचालय, Vastu for bathroom and Toilet , Vastu Shastra - स्नानघर (बाथरूम) , Best Vaastu Tips for Bathroom, शौचालय और स्नानघर का वास्तु शास्त्र, Sochalay Aur Snanghar Ka Vastu,वास्तु शास्त्र के अनुसार शौचालय टैंक,दक्षिण-पूर्व दिशा में शौचालय,बेडरूम किस दिशा में होना चाहिए,घर में किस दिशा में क्या होना चाहिए,वायव्य कोण में क्या होना चाहिए,सेफ्टी टैंक किस दिशा में होना चाहिए, स्नानघर ,शौचालय,शौचालय और स्नानघर का वास्तु, टॉयलेट और स्नानघर के वास्तु नियम, Vastu of Toilet and Bathroom, घर में कहां बनाएं टॉयलेट, बाथरूम और स्टोर रूम, जानें उत्तर-पश्चिम दिशा का वास्तु,शौचालय किस दिशा में होना चाहिए,पूजा घर किस दिशा में होना चाहिए,लैट्रिन बाथरूम का नक्शा,छत का पानी किस दिशा में गिरना चाहिए,सेफ्टी टैंक की साइज क्या होनी चाहिए,किचन में चूल्हा किस दिशा में होना चाहिए,वास्तु शास्त्र के अनुसार घर,सरळ वास्तु टिप्स, शौचालय का ऐसा वास्तुदोष बनाता है रोगी और गरीब , Vastu dosh nivaran upay, आपके घर में यहां है टॉयलेट तो विनाश के कगार पर हैं आप , washroom toilet vastu, bathroom aur toilet ka vastu upay, shauchaly ka vastu tips, बार बार बीमार होने का कारण क्या है?, ईशान कोंण में क्या रखना चाहियें, घर के ईशान कोण में क्या होना चाहिए,घर से बीमारी भगाने के टोटके,स्वास्थ्य समस्याओं के लिए वास्तु उपचार,घर में सकारात्मक ऊर्जा के उपाय,बीमारी की रोकथाम के उपाय, Baar-baar bimar hone ke karan kya hain, ishan kon me kua rakhna chahiye, ghar ke ishan kon me kya hona chahiye, ghar se bimari bhagane ke totke, swasth samsyaon ke liye vastu upaay, ghat me sakaratmak urjaa ke upay, bimari ki roktham ke upay, What is the reason for getting sick again and again?, What should be kept in the Northeast corner of the house measure of, Vastu Tips For Good Health , घर से बीमारी और आर्थिक परेशानी दूर करने के उपाय, Ghar se bimari aur arthik pareshani door karne ke upay, Remedies to remove illness and financial problems from home, Vastu dosh relation with womens health , घर के वास्तु दोष को खत्म करने के उपाय,ghar ka vastu dosh ko khatm karne ke upay, vastu dosh aur rog, laalkitaab se bimari ka upay, bimari air vastu, ghar ka vastu shastra in hindi, vastu dosh ke lakshan aur upay, rog door karne ke hanuman ji ke totke, vastu shastra aur rog, ghar men beemari na aaue iske liye vastu kesa ho?, वास्तु दोष और रोग,लाल किताब बीमारी के उपाय, बीमारी और वास्तु,घर का वास्तु शास्त्र हिंदी में,वास्तु दोष के लक्षण एवं उपाय,रोग दूर करने के हनुमान जी के टोटके,वास्तु शास्त्र और रोग,घर में बीमारियां ना आएं इसके लिए वास्तु कैसा हो?, Remedies to eliminate Vastu defects in the house, Vastu defects and diseases, Lal Kitab remedies for diseases, Illness and Vastu, Vastu Shastra of the house in Hindi, Symptoms and Remedies of Vastu Dosh, Hanuman ji's tricks to cure diseases, Vastu Shastra and Diseases, How should Vastu be for diseases to not come in the house?, Vastu Direction Tips For Avoid Health Problems, घर के मुख्यद्वार के सामने गड्ढा है तो, बीमारी दूर भगाने के ये सरल टोटके, घर के मुख्यद्वार के सामने खम्मा हो तो, घर के मुख्यद्वार के सामने पेड़ हैं तो, घर के मुख्यद्वार के सामने कचड़ा का ढेर है तो, घर के मुख्यद्वार में कूड़ा करकट जमा होना, Vastu Tips: These Things Save Your Money , take these 4 things out from home, घर के सामने पेड़ या खंभा हो तो, Vastu Tips : घर से बीमारी भगाने के उपाय, vastu tips: home remedies for sickness, घर से बीमारी को कैसे दूर करे?, Vastu Tips : वास्तु दोष को दूर कर घर से बीमारी भगाने के उपाय, वास्तु दोष को दूर कर घर से बीमारी भगाने के उपाय, घर से बीमारी भगाने के उपाय, Vastu tips: Remedies to remove diseases from home by removing Vastu defects, वास्तु दोष को दूर कर घर से बीमारी भगाने के उपाय, Remedies to remove diseases from home by removing Vastu defects, home remedies for sickness, घर की किस दिशा में सोना चाहिए,घर की किस दिशा में सोना चाहिए,घर में अधिक पर्दे और बंद खिड़की हो तो,घर के बेडरूम में भगवान की तस्वीर या मूर्ति हो तो,घर का मध्यभाग (आंगन) कैसा होना चाहिए,घर में यदि बीम हो तो,घर से वास्तु दोष को मुक्त करने लिए क्या करें, वास्तु दोष, वास्तु शास्त्र, वास्तु दोष के उपाय, वास्तु दोष को कम करने के उपाय, वास्तु दोष को कैसे दूर करें, घर मे सुख शांति के उपाय, dkshin disha ka vastu dosh kam Karne ke upay, dkshin mukhi ghar ka vastu dosh kam karne ka upay, दक्षिण मुखी मकान का वास्तु दोष काम करने का उपाय, दक्षिण मुखी द्वार का वास्तु दोष कैसे खत्म करे, दक्षिण मुखी घर का वास्तु दोष काम करने के उपाय, Remedy to work Vastu defect of South facing house, How to eliminate Vastu defect of South facing door, vastu tips, vastu shastra, Vastu Dosh: These diseases also give the indication of Vastu , vastu टिप्स फ़ॉर हेल्थ,vastu tips for helth, स्वास्थ्य के लिए वास्तु टिप्स, Wikiluv, विकिलव, wikiluv.com, www.wikiluv.com, घर का सीढ़ी किधर होना चाहिए?, Utter disha, uttar disha vastu, uttar disha ka vastu dosh kaise door kare, uttar disha mein kua kare kya na Karen, uttar disha ka vastu dosh kam karne ke upay, उत्तर दिशा में क्या करें और क्या न करें, kitchen ki sahi disha, uttar disha vastu shastra, uttar disha in hindi, uttar mukhi makan ka vastu Shastra, वास्तु शास्त्र के हिसाब से उत्तरमुखी मकान का नक्शा,वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की सीढ़ियां,वास्तु के अनुसार सीढ़ियां कहा होनी चाहिए, Vastu Upaay, उत्तर पूर्व दिशा में,उत्तरमुखी मकान में सीढ़ी का स्थान, उत्तर मुखी घर का रंग, वास्तु व उत्तर दिशा, Astrology in Hindi, उत्तर दिशा के वास्तु दोष निवारण के सरल उपाय, uttar disha ka vastu dosh door karne ke vastu tips, Home Vastu Tips,घर की उत्तर दिशा कुबेर का है, lifestyle, Vastu Tips in Hindi, Vastu Tips, vastu shastra, वास्तु शास्त्र, vastu shastra in hindi, Vastu Tips- know Importance Of Each Direction According To Vastu Shastra in Hindi, secretvastu, उत्तरमुखी घर के लिए वास्तु ,North Facing House, घर की उत्तर दिशा का वास्तु, घर की उत्तर दिशा में क्या होना शुभ होता है, ghar ki uttar disha ka vastu, uttar disha me rakhen in baaton ka dhayan, ghar ki uttar disha ke upay, ghar ki uttar disha ke liye vastu tips, उत्तर दिशा का वास्तु दोष को दूर करने के उपाय, ghar ki uttar disha ke liye vastu tips, घर की उत्तर दिशा के लिए वास्तु शास्त्र, घर की उत्तर दिशा के लिए वास्तु टिप्स, Vastu Tips for North Direction in hindi Vastu Tips For Stairs : These Type Of Stairs Bring Money Problem In house, According To Vastu Know The Direction For Ladder At Home , Which side is best to sleep?,Best Sleeping Position for Better Sleep and Health, Which direction God should face in home?, Which direction we should not sleep?, Can we place God facing west?, Which god idols should not be kept at home?, Which god idol should be kept in home? Best Direction to Sleep According to Feng Shui and Vastu Shastra,Which direction God should face in home?,Know in which direction you should place God's idol in temple or prayer room,Vastu for office interiors, 10+ tips for success and prosperity at work, north facing house good as per Vastu?, Is north facing house good as per Vastu?,How can we improve North direction?, 7 Tips to Enhance Career Success with the North Zone , What is north direction good for?, Vastu Tips: How To Attract Wealth To Your Home,is it good to sit facing north?,Vastu for office interiors: 10+ tips for success and prosperity at work, North east direction Vastu,Which direction God should face in home?, North facing house Vastu, north-west direction vastu tips, Vastu for North facing house plan, North east facing house means, North direction Vastu colour, South facing house Vastu, North East facing House vastu in Hindi, Vastu For Kitchen, Vastu Tips For Kitchen to boost positive energy, Vastu Tips, ways to boost positive energy in your home , Architectural defects, ways to boost positive energy in 5 areas of your home,Vastu expert Ashna Ddhannak enlists ways to ensure your home radiates good vibes, Is north entrance good as per vastu?, Can we buy north facing house?, Why are north facing vastu better?, vastu north direction, Answers Covered NORTH Facing House Vastu Questions & Tips, Best Vastu Tips For The North Direction, Vaastu tips for nort direction, vastu tips for north direction, North Direction, Know about North Direction - Vaastu Shastra, Vastu tips: Do not build toilets in the north direction of the house,Five Super do's of North Direction in Vastu for good life, Five Things keep in North Direction in Vastu for good life, North direction Vastu remedies, North direction vastu in Hindi, South direction Vastu, North-west direction Vastu, How do you activate north direction?, Vastu Directions - How Many Importance Directions are There, Vastu Directions - How Many Importance Directions are There north facing, Vastu Directions,vastu shastra tips for positive energy,wikiluv, विकिलव, www.wikiluv.com, wikiluv.com

Vastu Shastra Bathroom and Toilet  in Hindi : यदि आप नए घर का निर्माण कर रहें हैं, और बगैर सोचे समझे स्नानगार और शौचालय बनवाने जा रहें तो खबरदार क्योंकि स्नानगार और शौचालय का वास्तु शास्त्र में एक ख़ास हिस्सा है यदि आप इसे यूं ही बिना विचार किए हुए बनवा लेंगे तो जानिए क्या यह आपके लिए या आपके परिवार के लिए शुभता देगा या अशुभता। इसलिए आज के इस लेख को ध्यान से पढ़े क्योंकि इसके अन्तर्गत हम आप सभी को वास्तु शास्त्र के अनुसार स्नानघर और शौचालय वास्तु नियम के साथ ही साथ बाथरूम और टॉयलेट का वास्तु दोष दूर करने का वास्तु उपाय भी बताएंगे।

वास्तु शास्त्र : नए घर में स्नानगा र (बाथरूम) और शौचालय (टॉयलेट) बनाने के वास्तु के नियमों को ध्यान में रखकर ही बनाना चाहिए क्योंकि यह घर में वास्तु दोष उत्पन्न कर देता है जिसका असर घर में रहने वाले सदस्यों पर पड़ता है। अतः यदि आप चाहते है कि आपके घर परिवार पर वास्तु का बुरा प्रभाव न पड़े तो आप नए घर या भवन निर्माण करने से पहले वास्तु के इन नियमों को अवश्य जान लें।

Vastu Shastra: स्नानगार और शौचालय वास्तु नियम

मकान के बीचों – बीच भूलकर भी शौचालय और स्नानघर नही बनवाना चाहिए क्योंकि यह स्थान ब्रह्मस्थल कहलाता है और इस स्थल पर ब्रह्मा जी का वास होता है।

स्नानगृह में चंद्रमा का वास है तथा शौचालय में राहू का। अतः शौचालय और बाथरूम को एकसाथ नहीं होना चाहिए। मकान बनवाते समय इस बात को जरुर ध्यान में रखें और लैट्रिन और बॉथरूम अलग अलग बनवाने पर जरूर विचार करें क्योंकि यह वास्तु नियम के बिल्कुल विरूद्ध है जो कि बाद में घातक परिणाम दे सकता है।

शौचालय में सीट इस प्रकार हो कि उस पर बैठते समय आपका मुख दक्षिण या उत्तर की ओर होना चाहिए।

स्नानगार (बॉथरूम) बताएं गए चित्र के अनुसार हर दिशा में हो सकता है क्योंकि स्नानघार में चंद्रदेव का वास होता है। परन्त स्नानघर में मूत्र विर्सजन करना वर्जित होता है।

मकान के वायव्य कोण, अथवा पश्चिम दिशा में शौचालय बनवाना बेहद शुभ होता है, परन्तु ध्यान रखें की नैऋत्य कोण में कदापि न बनवाएं क्योंकि यह बेहद ही अशुभ व असंतोषजनक परिणाम देता है। इसके अलावा दक्षिण दिशा में भी बनावा सकते है, जो की शुभ परिणाम देता है।

शौचालय (टॉयलेट) और शौचालय टैंक (सेप्टिक टैंक) ईशान,  आग्नेय , नैऋत्य कोण में नहीं होना चाहिए ईशान कोण में लक्ष्मी और आग्नेय कोण में अग्नि देव यानी अग्नितत्व का वास होता है।, इसके अलावा उत्तर, पूर्व दिशा में भी होना हानिकारक प्रभाव देता है। यदि सेप्टिक टैंक आपके घर के बाहर हो तो यह बेहद ही अच्छे परिणाम देता है।

स्नानघर पूर्व दिशा में होना चाहिए, नहाते समय हमारा मुंह अगर पूर्व या उत्तर में है तो लाभदायक माना जाता है।

पूर्व में उजालदान या रोशनदान होना चाहिए, बाथरूम में वॉश बेशिन को उत्तरी या पूर्वी दीवार में लगाना चाहिए।

बाथरूम में दर्पण को उत्तर या पूर्वी दीवार में लगाना चाहिए, परन्तु दर्पण को दरवाजे के ठीक सामने बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए।

शौचालय के द्वार के ठीक सामने रसोई नहीं होनी चाहिए।

यदि केवल स्नानगार बनाना है तो वह शयनकक्ष के पूर्व, उत्तर अथवा ईशान कोण में हो सकता है।

शौचालय कभी भी सीढ़ियों के नीचे होना भी वास्तु दोष माना जाता है क्योंकि सीढ़ियों से ऊपर और नीचे उतरने वाले लोगों की उन्नति में भी बाधा पहुंचाता है, साथ ही मानसिक तनाव देता है तथा वास्तु नियमों के विपरीत होने के कारण स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा करता है।

बाथरूम में पानी के लिए नल, शावर आदि उत्तर अथवा पूर्व दिशा में होना चाहिए।

बाथरूम में पानी का निकास पूर्व की ओर रखना शुभ है। शौचालय के पानी का निकास रसोई, भवन के ब्रह्मस्थल तथा पूजाघर के नीचे से नहीं रखना चाहिए।

स्नानागार में यदि प्रसाधन कक्ष अलग से बनाना हो तो वह इसके पश्चिम अथवा दक्षिण दिशा में होना चाहिए।

स्नानागार में कपड़ों का ढेर वायव्य दिशा में होना चाहिए।

बाथरूम में वाश बेसिन तथा बाथ टब भी उत्तर दिशा या ईशान कोण में होना चाहिए।

Vastu Tips : बाथरूम और टॉयलेट का वास्तु दोष दूर करने का उपाय –

यदि आपने पहले से घर बनवाया हुआ है, और आपने वास्तु नियम को ध्यान में रखकर नही बनवाया है या आपकी जमीन के अभाव में बाथरूम और टॉयलेट को अटैच करवाया है या सीढ़ियों के नीचे बनवाया है। या फिर किसी भी कारणवश या जल्दबाजी से बाथरूम और टॉयलेट गलत दिशा में बन गया है तो बगैर तोड़ फोड़ किए बिन ही आप अपने घर का वास्तु कैसे ठीक करें इसके लिए नीचे कुछ उपाय है जिससे आप वास्तुदोष ठीक कर सकतें है।

शौचालय बनवाते समय उसके दरवाजे पर नीचे की तरफ लौहे, तांबे तथा चांदी के तीन तार एक साथ दबा दें।

यदि आपका शौचालय और टैंक आग्नेय कोण में स्थित है तो आप अपनी शौचालय टॉयलेट में एक गहरे लाल रंग का बल्ब लगा दें और उसे परमानेंट जलने दें।

कभी भी अपनी बाथरूम में खाली बाल्टी न रखें अर्थात बाल्टी हमेशा पानी से भरी हुई ही होनी चाहिए।

यदि आपकी बाथरूम और टॉयलेट के पानी वाले नल का पानी हमेशा टपकता रहता है तो आप जल्द ही नल बदलवा लें।

ईशान कोण में गलती से यदि स्नानगार (बाथरूम) बन गया है तो कोई बात नहीं परन्तु वहा नहाने और कपड़े धुलने के अलावा कभी भी मूत्र (पेशाब) विसर्जन न करें।

बाथरूम और टॉयलेट का दरवाजा कभी भी आवाज करता हुआ नहीं होना चाहिए। इसके लिए आप समय – समय पर इसमें तेल डालते रहें इससे इसकी चिक- चिहाहट दूर हो जाएंगी।

बाथरूम और टॉयलेट का गेट भी कभी भी खुला हुआ नहीं होना चाहिए इसको हमेशा बंद रखने से वास्तु दोष से बचा जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here